पीएम मोदी सबसे बड़ी सुरंग अमृत योजना

आज कल मीडिया:

पीएम मोदी ने आगे कहा कि सबसे बड़ा पुल हो, सबसे बड़ी सुरंग हो या सबसे बड़ा एक्सप्रेसवे हो सब कुछ हमारी सरकार के समय में ही बना है। वो भी तब जब कि स्थिति सही नहीं थी। आज जिनके कारण शहरो की हालत बिगड़ती चली गई आज वही लोग स्मार्ट सिटी मिशन का मजाक उड़ा रहे हैं। सोलापुर में भी अमृत योजना के तहत पीने का पानी और सीवेज से जुड़े प्रोजक्ट चल रहे हैं। हमारे यहां स्थिति ये रही कि जो उद्योगों को चलाते हैं, कामगार हैं उन्हें  झुग्गी‍ में रहना पड़ता है पर अटल जी ने उनके लिए सोचा और उन्हें घर देने का निर्णय किया और उसी सोच को आगे बढ़ाते हुए हमें इन भाइयों और बहनों के लिए घर बनवाने का सौभाग्य मिला और मैं उन्हें विश्वास  दिलाता हूं कि जल्द ही उनके हाथ घर की चाबी होगी। पहले भी प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत लाखों लोग लाभ ले चुके हैं। पहले कैसे मकान बनते थे,पहले की सरकार कैसे काम करती है और हम कैसे काम करते हैं, ये जनता जानेगी। उनके समय में कागज पर 13 लाख घरों की बात हुई और दस साल में आठ लाख घरों का ही निर्माण हुआ यानी एक साल में अस्सी हजार घरों का निर्माण हुआ। हमने साढ़े चार सालों में 70 लाख घरों को मंजूरी दी।अगर हम भी उनकी गति से चलते तो आपके बच्चे के बच्‍चों को भी घर नहीं मिल पाता। 18 लाख तक सालाना कमाने वाले लोगों को भी इस दायरे में लाए हैं। उन्हें  बीस साल तक के होम लोन में 6 लाख तक की मदद दी जाएगी। हम घर के साथ स्वास्‍थ्‍य  और बीमा के क्षेत्र में भी बहुत काम कर रहे हैं। आज हमने बिना ढोल पीटे गरीबों के घर में तीन लाख करोड़ दे दिए और किसी को भी भनक नहीं हुई।